Delhi Jafarabad Murder: पत्नी और दो बेटियों की हत्या कर कारोबारी ने दे दी जान, एक-एक कर एक कमरे में चली चार गोलियां, लेकिन आवाज किसी ने नहीं सुनी.

0

इसरार, पत्नी फरहीन व दो बेटियां यशफिका और इनाया 
 
Delhi: दिल्ली के जाफराबाद इलाके में 4 लोगों की लाश घर में मिली है. शुरुआती जांच के बाद कहा जा रहा है कि पति ने पहले अपनी पत्नी और दोनों बच्चियों को गोली मारी.जाफराबाद में इसरार अहमद नाम के शख्स ने अपनी पत्नी और दो बेटियों को गोली मार दी. परिवार के तीनों ही सदस्यों ने मौके पर दम तोड़ दिया. इसके बाद इसरार ने खुद को भी गोली मार कर आत्महत्या कर ली. हैरानी की बात ये है कि घर के बाहर उस समय व्यापारी के दो बेटे भी मौजूद थे, लेकिन इसरार ने उन्हें कुछ नहीं किया. ऐसे में किस कारण से इसरार ने अपनी पत्नी और सिर्फ दो बेटियों का कत्ल किया, पुलिस इसकी जांच कर रही है।

इसरार अपने परिवार के साथ कई साल तक सऊदी अरब में रहा.

परिवार वालों ने बताया कि इसरार अपने परिवार के साथ कई साल तक सऊदी अरब में रहा। वहां पर उसका घड़ी का कारोबार था। 2018 में वह परिवार के साथ जाफराबाद आ गया और मुंबई में जींस का कारोबार शुरू कर दिया था। कुछ दिनों तक सब कुछ ठीक रहा लेकिन कोरोना महामारी के दौरान उसे कारोबार में घाटा होने लगा। वह इस बात को लेकर परेशान रहने लगा। लेकिन परिवार के अन्य सदस्यों से उसने कभी इस बात का जिक्र नहीं किया। परिवार वालों ने बताया कि फरहीन का मायका चांदनी चौक में है। बृहस्पतिवार को फरहीन की भांजी का जन्मदिन था। फरहीन अपनी बड़ी बेटी व छोटे बेटे को लेकर वहां गई थी। जबकि इसरार अपने दो बच्चों के साथ घर पर ही मौजूद था। रात करीब 12 बजे फरहीन घर आई। उसके बाद देर रात करीब दो बजे सो गए।

इसरार के बेटे ने बताया कि वह रात में अपनी बहनों के साथ कमरे में सोया था। लेकिन दोपहर में जब उसकी नींद खुली तो वह अपने पिता के कमरे में आया। उसकी नजर फर्श पर पड़ी अपनी बहनों पर पड़ी। उनके सिर के आस पास खून बिखरा था। उसके बाद उसने बिस्तर पर अपने माता-पिता को भी अचेत देखा। बिस्तर पर भी खून फैला था। वह काफी डर गया और वह भागकर अपने चाचा को घटना की जानकारी दी।

गोली चलने की आवाज किसी ने नहीं सुनी.

जाफराबाद में हत्या के बाद खुदकुशी के मामले में ऐसा ही हुआ है। इसरार ने पत्नी और दो बेटियों की हत्या करने के बाद खुद को गोली मारी। इस दौरान उसने चार गोलियां चलाई। हैरानी की बात यह है कि इसी इमारत की दूसरी मंजिल पर उसका भाई और पहली मंजिल पर उसके माता पिता रहते हैं। गोली चलने की आवाज किसी ने नहीं सुनी। हालांकि परिवार वालों का कहना है कि इसरार की पत्नी अपने मायके से काफी देर से घर पहुंची थी और परिवार के सभी सदस्य देर रात सोए थे। ऐसे में गहरी नींद होने की वजह से किसी ने गोली चलने की आवाज नहीं सुनी। 

पुलिस का कहना है कि इसरार ने हत्या करने से पहले उन लोगों को जहरीला पदार्थ खिलाया था। आशंका है कि उसने कुछ अंतराल के बाद एक एक कर गोली चलाई होगी। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि पूरे मामले की अभी छानबीन जारी है और क्राइम और फोरेंसिक टीम मौके से साक्ष्य इक्कठा कर जांच करने में जुटी है। 

Tags

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)