Mulayam Singh: समाजवादी पार्टी के संरक्षक और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव का 82 वर्ष की उम्र में निधन.

0

मुलायम सिंह यादव लंबे समय से बीमार चल रहे थे, लेकिन नौ जुलाई को दूसरी पत्नी साधना गुप्ता की मौत के बाद वह बिल्कुल टूट गए। इसके बाद वह ज्यादा बीमार रहने लगे। तीन महीने बाद ही मुलायम सिंह यादव ने भी दुनिया को अलविदा कह दिया।


गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में मुलायम सिंह का इलाज चल रहा था। मुलायम सिंह लंबे समय से बीमार थे। यूं तो मुलायम सिंह  की तबीयत पिछले दो साल से ज्यादा खराब थी, लेकिन नौ जुलाई को उनकी दूसरी पत्नी साधना गुप्ता के निधन के बाद वह ज्यादा टूट गए थे। इसी साल नौ जुलाई को मेदांता अस्पताल में मुलायम सिंह यादव की पत्नी का भी निधन हुआ था। उनके निधन के एक महीने बाद ही मुलायम सिंह की तबीयत ज्यादा खराब हो गई। 22 अगस्त को उन्हें मेदांता में भर्ती कराया गया। पत्नी की मौत के चार महीने के अंदर ही मुलायम सिंह ने भी दुनिया को अलविदा कह दिया। तब से उनका इलाज यहां चल रहा था। दो अक्तूबर को हालात ज्यादा खराब होने के बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया। लगातार उनकी हालत खराब हो रही थी। 


प्रधानमंत्री ने मुलायम सिंह यादव के निधन पर श्रद्धांजलि दी.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वरिष्ठ राजनीतिज्ञ मुलायम सिंह यादव के निधन पर शोक व्यक्त किया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि मुलायम सिंह यादव ने पूरी लगन से लोगों की सेवा की और लोकनायक जेपी और डॉ. लोहिया के आदर्शों को लोकप्रिय बनाने के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उस समय का भी स्मरण किया जब मुलायम सिंह यादव रक्षा मंत्री थे और उन्होंने भारत को और मजबूत बनाने की दिशा में कार्य किया। यादव के साथ अपने घनिष्ठ संबंध को याद करते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि वह हमेशा उनके विचार सुनने के लिए उत्सुक रहते थे और उनकी बैठकों की तस्वीरें भी साझा करते थे। प्रधानमंत्री ने यादव के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया।



Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)